शुक्रवार, 16 दिसंबर 2016

कया आप जानते है की मंदिर मे नंगे पैर जाना सूर्य पूजा करना तूलसी पूजा करना पिपल पूजा करना माथे पर तिलक लगाना सिर पर चोटी रखना ईन सब के कया कारन है और ईन सब के वारे मे विज्ञान क्या कहता है़ नही तो यह जरूर पढ़ें...........

      
1.*सिर पर चोटी*

हिंदू धर्म में ऋषि मुनी सिर पर चुटिया रखते थे। आज भी लोग रखते हैं।

वैज्ञानिक तर्क-

जिस जगह पर चुटिया रखी जाती है उस जगह पर दिमाग की सारी नसें आकर मिलती हैं। इससे दिमाग स्थ‍िर रहता है और इंसान को क्रोध नहीं आता, सोचने की क्षमता बढ़ती है।

दुनिया की सबसे भूतिया और रहस्मय जगह

2.*सूर्य नमस्कार*

हिंदुओं में सुबह उठकर सूर्य को जल चढ़ाते हुए नमस्कार करने की परम्परा है।

वैज्ञानिक तर्क-

पानी के बीच से आने वाली सूर्य की किरणें जब आंखों में पहुंचती हैं, तब हमारी आंखों की रौशनी अच्छी होती है।

भारत का एक रहस्मयी टापू जहाँ नहीं चलता किसी का राज 



3.*सिर पर चोटी*

हिंदू धर्म में ऋषि मुनी सिर पर चुटिया रखते थे। आज भी लोग रखते हैं।

वैज्ञानिक तर्क-

जिस जगह पर चुटिया रखी जाती है उस जगह पर दिमाग की सारी नसें आकर मिलती हैं। इससे दिमाग स्थ‍िर रहता है और इंसान को क्रोध नहीं आता, सोचने की क्षमता बढ़ती है।

                                  पाकिस्तान में स्थित एक ऐसा मंदिर यहाँ मुस्लिम भी झुकाते है सर

                                                                   DOWNLOAD

4.*हाथ जोड़कर नमस्ते करना*

जब किसी से मिलते हैं तो हाथ जोड़कर नमस्ते अथवा नमस्कार करते हैं।

वैज्ञानिक तर्क-

जब सभी उंगलियों के शीर्ष एक दूसरे के संपर्क में आते हैं और उन पर दबाव पड़ता है। एक्यूप्रेशर के कारण उसका सीधा असर हमारी आंखों, कानों और दिमाग पर होता है, ताकि सामने वाले व्यक्त‍ि को हम लंबे समय तक याद रख सकें। दूसरा तर्क यह कि हाथ मिलाने (पश्च‍िमी सभ्यता) के बजाये अगर आप नमस्ते करते हैं तो सामने वाले के शरीर के कीटाणु आप तक नहीं पहुंच सकते। अगर सामने वाले को स्वाइन फ्लू भी है तो भी वह वायरस आप तक नहीं पहुंचेगा।

                                                   मक्का मदीना से जुड़ा अनसुना रहस्य


                                                                   DOWNLOAD
5.*जमीन पर बैठकर भोजन करना*

भारतीय संस्कृति के अनुसार जमीन पर बैठकर भोजन करना अच्छी बात होती है।
वैज्ञानिक तर्क-

पलती मारकर बैठना एक प्रकार का योग आसन है। इस पोजीशन में बैठने से मस्त‍िष्क शांत रहता है और भोजन करते वक्त अगर दिमाग शांत हो तो पाचन क्रिया अच्छी रहती है। इस पोजीशन में बैठते ही खुद-ब-खुद दिमाग से एक सिगनल पेट तक जाता है, कि वह भोजन के लिये तैयार हो जाये।

                                                 मृत्यु से पहले ये 10 संकेत देता है भगवान


                                                                     DOWNLOAD
6.*तुलसी के पेड़ की पूजा*

तुलसी की पूजा करने से घर में समृद्ध‍ि आती है। सुख शांति बनी रहती है।

वैज्ञानिक तर्क-

तुलसी इम्यून सिस्टम को मजबूत करती है। लिहाजा अगर घर में पेड़ होगा, तो इसकी पत्त‍ियों का इस्तेमाल भी होगा और उससे बीमारियां दूर होती हैं।

 

7.*भोजन की शुरुआत तीखे से और अंत मीठे से*

जब भी कोई धार्मिक या पारिवारिक अनुष्ठान होता है तो भोजन की शुरुआत तीखे से और अंत मीठे से होता है।

वैज्ञानिक तर्क-

तीखा खाने से हमारे पेट के अंदर पाचन तत्व एवं अम्ल सक्रिय हो जाते हैं। इससे पाचन तंत्र ठीक तरह से संचालित होता है। अंत में मीठा खाने से अम्ल की तीव्रता कम हो जाती है। इससे पेट में जलन नहीं होती है।



8.*पीपल की पूजा*

तमाम लोग सोचते हैं कि पीपल की पूजा करने से भूत-प्रेत दूर भागते हैं।

वैज्ञानिक तर्क-

इसकी पूजा इसलिये की जाती है, ताकि इस पेड़ के प्रति लोगों का सम्मान बढ़े और उसे काटें नहीं। पीपल एक मात्र ऐसा पेड़ है, जो रात में भी ऑक्सीजन प्रवाहित करता है.

दुनिया की सबसे भूतिया और रहस्मय जगह

9.*एक गोत्र में शादी क्यूँ नहीं*

एक अमेरिकी वैज्ञानिक ने कहा की जेनेटिक बीमारी न हो इसका एक ही इलाज है और वो है "सेपरेशन ऑफ़ जींस".. मतलब अपने नजदीकी रिश्तेदारो में विवाह नही करना चाहिए ..क्योकि नजदीकी रिश्तेदारों में जींस सेपरेट (विभाजन) नही हो पाता और जींस लिंकेज्ड बीमारियाँ जैसे हिमोफिलिया, कलर ब्लाईंडनेस, और एल्बोनिज्म होने की १००% चांस होती है ..आखिर हिन्दूधर्म में हजारों सालों पहले जींस और डीएनए के बारे में कैसे लिखा गया है ? जो "विज्ञान पर आधारित" है !  हिंदुत्व में कुल सात गोत्र होते है और एक गोत्र के लोग आपस में शादी नही कर सकते ताकि जींस सेपरेट (विभाजित) रहे..

10.*दक्ष‍िण की तरफ सिर करके सोना*

दक्ष‍िण की तरफ कोई पैर करके सोता है, तो लोग कहते हैं कि बुरे सपने आयेंगे, भूत प्रेत का साया आ जायेगा, आदि। इसलिये उत्तर की ओर पैर करके सोयें।

वैज्ञानिक तर्क-

जब हम उत्तर की ओर सिर करके सोते हैं, तब हमारा शरीर पृथ्वी की चुंबकीय तरंगों की सीध में आ जाता है। शरीर में मौजूद आयरन यानी लोहा दिमाग की ओर संचारित होने लगता है। इससे अलजाइमर, परकिंसन, या दिमाग संबंधी बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है। यही नहीं रक्तचाप भी बढ़ जाता है।

                                   5 ऐसी वेबसाइट जिनके बारे में आपने पहले सुना नहीं होगा |


                                                                    DOWNLOAD

11.*माथे पर कुमकुम का तिलक*

महिलाएं एवं पुरुष माथे पर कुमकुम या तिलक लगाते हैं।

वैज्ञानिक तर्क-

आंखों के बीच में माथे तक एक नस जाती है। कुमकुम या तिलक लगाने से उस जगह की ऊर्जा बनी रहती है। माथे पर तिलक लगाते वक्त जब अंगूठे या उंगली से प्रेशर पड़ता है, तब चेहरे की त्वचा को रक्त सप्लाई करने वाली मांसपेशी सक्रिय हो जाती है। इससे चेहरे की कोश‍िकाओं तक अच्छी तरह रक्त पहुंचता है.

12.*कान छिदवाने की परम्परा*

भारत में लगभग सभी धर्मों में कान छिदवाने की परम्परा है।

वैज्ञानिक तर्क-

दर्शनशास्त्री मानते हैं कि इससे सोचने की शक्त‍ि बढ़ती है। जबकि डॉक्टरों का मानना है कि इससे बोली अच्छी होती है और कानों से होकर दिमाग तक जाने वाली नस का रक्त संचार नियंत्रित रहता है।

13.*दीपक के ऊपर हाथ घुमाने का वैज्ञानिक कारण*

दीपक के ऊपर हाथ घुमाने का वैज्ञानिक कारण
आरती के बाद सभी लोग दिए पर या कपूर के ऊपर हाथ रखते हैं और उसके बाद सिर से लगाते हैं और आंखों पर स्पर्श करते हैं। ऐसा करने से हल्के गर्म हाथों से दृष्टि इंद्री सक्रिय हो जाती है और बेहतर महसूस होता है।



14.*मंदिर में घंटा लगाने का कारण*

मंदिर में घंटा लगाने का कारण
जब भी मंदिर में प्रवेश किया जाता है तो दरवाजे पर घंटा टंगा होता है जिसे बजाना होता है। मुख्य मंदिर (जहां भगवान की मूर्ति होती है) में भी प्रवेश करते समय घंटा या घंटी बजानी होती है, इसके पीछे कारण यह है कि इसे बजाने से निकलने वाली आवाज से सात सेकंड तक गूंज बनी रहती है जो शरीर के सात हीलिंग सेंटर्स को सक्रिय कर देती है।

15.*परिक्रमा करने के पीछे वैज्ञानिक कारण*

परिक्रमा करने के पीछे वैज्ञानिक कारण
हर मुख्य मंदिर में दर्शन करने और पूजा करने के बाद परिक्रमा करनी होती है। परिक्रमा 8 से 9 बार करनी होती है। जब मंदिर में परिक्रमा की जाती है तो सारी सकारात्मक ऊर्जा, शरीर में प्रवेश कर जाती है और मन को शांति मिलती है।

16.*चप्पल बाहर क्यों उतारते हैं ?*

चप्पल बाहर क्यों उतारते है ?
मंदिर में प्रवेश नंगे पैर ही करना पड़ता है, यह नियम दुनिया के हर हिंदू मंदिर में है। इसके पीछे वैज्ञानिक कारण यह है कि मंदिर की फर्शों का निर्माण पुराने समय से अब तक इस प्रकार किया जाता है कि ये इलेक्ट्रिक और मैग्नैटिक तरंगों का सबसे बड़ा स्त्रोत होती हैं। जब इन पर नंगे पैर चला जाता है तो अधिकतम ऊर्जा पैरों के माध्यम से शरीर में प्रवेश कर जाती है।

                                           How To Make Avtar Animation in Mobile[HINDI]

                                                                        DOWNLOAD


दुनिया की सबसे भूतिया और रहस्मय जगह
महाभारत के प्राचीन शहर |
 समंदर से जुड़े 10 अनसुलझे रहस्य।   
मक्का मदीना से जुड़ा अनसुना रहस्य 
15 रहस्यमयी ऐसे देश जो कभी थे भारत का हिस्सा 
मृत्यु से पहले ये 10 संकेत देता है भगवान
भारत का एक रहस्मयी टापू जहाँ नहीं चलता किसी का राज
इन न्यूज़ हेडलाइन्स को पढ़ने के बाद शायद आप अपनी हंसी न रो पाएं
क्या आपने किये कैलाश पर्वत पर भागवान शिव के दर्शन नहीं तो....
Kya Aap Janto Ho Maa Vaishno Devi Ki Ye Katha
दुनिया की सबसे भूतिया और रहस्मय जगह
पाकिस्तान में स्थित एक ऐसा मंदिर यहाँ मुस्लिम भी झुकाते है सर |
ध्यान न रखी जाएं ये 4 बातें तो व्यर्थ है आपका जप
महाभारत के प्राचीन शहर
क्या आप जानते हैं हनुमान चालीसा की इस पंक्ति का रहस्य
How To Make Avtar Animation in Mobile 
यहाँ के लोग शव को आधा जला बापिस ले जाते है घर
How to Make Helicopter
VIDEO-योगी और ओवेसी की आमने सामने हुई तकरार राम मंदिर बनाने के लिए
 How to Download Youtube Videos Without Any Application
How to connect shareit pc to android
VIDEO-ऐसा दंगल पहले कभी नहीं देखा होगा | 
आखिर क्यों रो पड़े थे योगी संसद में वायरल विडियो |
How to download and use whatsapp windows 10
 शिवरात्री के दिन शिवलिंग पर नाग ने की पूजा देखने के लिए
How to check your gas subsidy online
कमजोर दिलवालों के लिए नहीं ये वीडियो कृप्या न देखें
5 ऐसी वेबसाइट जिनके बारे में आपने पहले सुना नहीं होगा
Movie Of Maharana Partap Battle Of Haldighati
हँसते हँसते पागल हो जाओगे इन पिक्चर्स को देखकर
एक माँ ढूंढ रही थी बेटी के बैग में सामान तभी मिला वो
         एक बार यह विडियो जरूर देखना !
दुनिया की सबसे भूतिया और रहस्मय जगह


Share:

1 टिप्पणियाँ:

लेबल

Recent

SPONSER

BEST DEAL